अशुभ ग्रहों को शांत करे शंख

सोमवार को शंख में दूध भरकर शिवजी को चढ़ाने से चन्द्रमा शुभ और अनुकूल होता है।

मंगलवार को शंख बजाकर सुन्दरकांड पढ़ने से मंगल का कुप्रभाव कम होता है।

बुधवार को शालिग्रामजी को शंख में जल व तुलसाजी डालकर अभिषेक करने से बुध ग्रह ठीक होता है।
शंख का केसर से तिलक कर पूजा करने से भगवान विष्णु व गुरु की प्रसन्नता मिलती है

शंख सफेद कपड़े में रखने से शुक्र ग्रह बलवान होता है।

शंख में जल डालकर सूर्यदेव को अर्घ्य देने से सूर्यदेव प्रसन्न होते हैं।

* लक्ष्मी पूजा में शंख की पूजा करने से धन-धान्य तथा ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है।

घर मे कैसी तस्वीरें नहीं लगानी चाहिए


भारतीय वास्तुशास्त्र में घर में सकारात्मक ऊर्जा के संचार के लिए पेंटिंग या फोटो लगाते समय न केवल दिशाओं का बल्कि इनके सबजेक्ट का भी विशेष ध्यान रखने की बात की गई है। वास्तुशास्त्र की मान्यताओं के अनुसार आइए जानते हैं घर में कहां और कैसी पेंटिंग लगानी चाहिए:​-

ताजमहल - यद्यपि ताजमहल को दुनियाभर मे प्यार का प्रतीक है परंतु इसके साथ ही वह एक क़बरगाह भी है शाहजहाँ की पत्नी मुमताज़ की। इसलिए घर मे ताजमहल की या उससे संबन्धित कोई भी चीज न रक्खे। इनसे घर मे नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।


ताजमहल दुनियाभर मे प्यार का प्रतीक है परंतु फिर भी वह एक क़बरगाह है शाहजहाँ की पत्नी मुमताज़ की। इसलिए घर मे ताजमहल की या उससे संबन्धित कोई भी चीज न रक्खे।  इनसे घर मे नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

नटराज - नटराज भगवान शिव की एक बड़ी ही खूबसूरत प्रतीकात्मक मूर्ति है परंतु इसे विध्वंस का प्रतीक भी माना है। इसलिए ऐसी फोटो या मूर्ति घर मे बिलकुल भी न रखें।

 नटराज भगवान शिव की एक बड़ी ही खूबसूरत प्रतीकात्मक मूर्ति है परंतु यह एक विध्वंस का भी प्रतीक है। इसलिए ऐसी फोटो या मूर्ति घर मे बिलकुल भी न रखें।


डूबती नाव - डूबती हुई नाव या लहरों मे फसी हुई नाव मन मे नकारतमक व निराशा का भाव पैदा करती है। डूबती नाव अगर घर में रखी हो तो अपने साथ आपका सौभाग्य भी डुबा देती है। इसलिए ऐसी तसवीरों को घर से दूर रखें।

डूबती हुई नाव या लहरों मे फसी हुई नाव मन मे नकारतमक व निराशा का भाव पैदा करती है। इसलिए ऐसी तसवीरों को घर से दूर रखें।

पानी के झरने - पानी के झरने बहाव का प्रतीक हैं. बहते पानी की फोटो घर में हो रहे आर्थिक नुकसान का कारण बन सकती हैं। वास्तु में मान्यता है कि जिस घर में बहते पानी की फोटो होती हैं, वहां पर धन नहीं टिकता।

जंगली जानवर -  आज-कल जानवरों की पेंटिंग को घर में लगाना चलन में है। देखने में आकर्षित लगने वाली ये फोटो आपके लिए नुकसानदायक साबित हो सकती हैं। किसी जंगली जानवर की फोटो या शो-पीस घर पर रखने से घर में रहने वालों का स्वभाव गुस्से वाला होने लगता है। इससे घर में क्लेश और हिंसा बढ़ती है।इसलिए जानवरों की मूर्ति या फोटो घर मे न रखें

रोते हुआ बच्चा - आज-कल मॉडर्न आर्ट के नाम पर कई अजीब तरह की फोटो चलन में हैं। कई लोगों के घर में रोते हुए बच्चों की फोटो भी सजाई जाती हैं। इस तरह की फोटो घर या दुकान में लगाना बहुत ही अशुभ माना जाता है। बच्चों को सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है। बच्चों की रोती हुई फोटो लगाने से दुर्भाग्य बढ़ता है।

शयनयान मे दर्पण - बेडरूम में शीशा नहीं रखना चाहिए. इससे संबंधो मे दरार आ सकती है.

युद्ध के दृश्य - घर मे रामायण और महाभारत के युद्ध संबन्धित तस्वीरें नहीं होनी चाहिए। महाभारत पारिवारिक झगड़े और क्लेश की कहानी है। इससे परिवार के लोगों मे प्रतिद्वंध्ता की भावना विकसित होती है

घर मे रामायण और महाभारत के युद्ध संबन्धित तस्वीरें नहीं होनी चाहिए। इससे परिवार के लोगों मे प्रतिद्वंध्ता की भावना विकसित होती है

कैक्टस या कंटीले पौधे - काँटेदार पौधों का घर मे होना या उसकी तस्वीर का होना भी अशुभ माना गया है। गुलाब के पौधे की तस्वीर भी घर मे नहीं होनी चाहिए।

काँटेदार पौधों का घर मे होना या उसकी तस्वीर का होना भी अशुभ माना गया है। गुलाब के पौधे की तस्वीर भी घर मे नहीं होनी चाहिए।

किन जानवरों की फोटो घर या दुकान में लगाने से बरकत मिलती है